तज़़मीन

तज़़मीन बर ग़ज़ल जाँ निसार अख़्तर

 जाँ निसार अख़्तर दोस्तो,  एक बार फिर पेश है तज़़मीन बर ग़ज़ल जाँ निसार अख़्तर । जां निसार अख़्तर एक ऐसे शाइर रहे हैं जिनकी कई पीढ़ियां शाइरी को ओढ़ती-बिछाती रहीं। एक लंबी फेहरिस्त रही है शाइरों की। जां निसार अख़्तर के बेटे जावेद अख़्तर और सलमान अख़्तर भी, तो पिता मुज़्तर खैराबादी भी एक मकबूल शाइर… Read More तज़़मीन बर ग़ज़ल जाँ निसार अख़्तर